श्री साई बाबा की 11 वचन

Posted by
  1. जो शिरडी में आएगा, आपदा दूर भगाएगा । 
  2. चढे समाधी की सीढ़ी पर, पैरो तले दुःख की पीढ़ी पर । 
  3. त्याग शरीर चला जाऊंगा, भक्त हेतु दौड़ा आऊंगा । 
  4. मन में रखना दृण विश्वास, करे समाधी पूरी आस । 
  5. मुझे सदा जीवित ही जानो, अनुभव करो सत्य पहचानो। 
  6. मेरी शरण आ खली जाए, हो कोई तो मुझे बताये । 
  7. जैसा भाव रहा जिस जान का, वैसा रूप हुआ मेरे मान का । 
  8. आओ सहायता लो भरपूर, जो माँगा वह नहीं है दूर । 
  9. भार तुम्हारा मुझ पर होगा, वचन न मेरा झूठा होगा । 
  10. मुझ में लीं वचन मनन काया, उस का ऋण न कभी चुकाया । 
  11. धान्य धान्य वो भक्त अनन्य, मेरी शरण तज जिसे न अन्ये । 

अनंतकोटी भ्रमांडनायक राजाधीराज योगिराज परमानंद श्री सच्चिदानंद सद्गुरु साई नाथ महाराज की जय ॥ 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *